Republic Day 2018 Essay in Hindi – 26 january 2018 Essay in English for Class Students

Short speech on Republic day, Republic day speech 2018,Republic day speech in English 2018,essay Republic day speech in English,10 lines on Republic day, Republic day speech in English, Essay on Republic day for class 8, Republic day speech in English for teachers

Republic Day 2018 Essay in HindiRepublic Day 2018 Essay in Hindi

Republic Day is a must to celebrate for every Indian as it is a national festival. You don’t need to be of a specific caste, race or of a state to celebrate it.  Friends this time we all are going to celebrate 69th republic day of India and Republic day is also known by the name of 26 January, so if you are here for the Republic Day 2018 Essay in Hindi then you are most welcome, you just need to scroll down your cursor and checkout full Republic Day 2018 Essay in Hindi and feel free to use these essays in front of your teachers on the day of Republic Day 2018.Here is  the collection of some good Republic Day 2018 Essay in Hindi

Republic Day 2018 Essay in Hindi

सभी को सुबह का नमस्कार। मेरा नाम अनन्त श्रीवास्तव है और मैं कक्षा 6 में पढ़ता हूं। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि अपने राष्ट्र के बेहद खास अवसर पर हम सभी यहाँ इकट्ठा हुये हैं जिसे गणतंत्र दिवस कहते हैं। मैं आप सबके सामने गणतंत्र दिवस पर भाषण पढ़ना चाहता हूं। सबसे पहले मैं अपने क्लास टीचर का धन्यवाद देना चाहूंगा जिनकी वजह से मुझे अपने स्कूल के इस मंच पर गणतंत्र दिवस के इस महान अवसर पर मेरे प्यारे देश के बारे में कुछ कहने का सुनहरा मौका प्राप्त हुआ।

15 अगस्त 1947 से ही भारत एक स्व-शासित देश है। 1947 में 15 अगस्त को ब्रिटिश शासन से भारत को स्वतंत्रता प्राप्त हुई जिसे हम स्वतंत्रता दिवस के रुप में मनाते हैं। हालांकि, 1950 से 26 जनवरी को हम गणतंत्र दिवस मनाते हैं। भारत का संविधान 26 जनवरी 1950 में लागू हुआ, इसलिये हम इस दिन को हर साल गणतंत्र दिवस के रुप में मनाते हैं। 2018 में इस वर्ष, हम भारत का 69वां गणतंत्र दिवस मना रहें हैं।

गणतंत्र का अर्थ है देश में रहने वाले लोगों की सर्वोच्च शक्ति और सही दिशा में देश के नेतृत्व के लिये राजनीतिक नेता के रुप में अपने प्रतिनीधि चुनने के लिये केवल जनता के पास अधिकार है। इसलिये, भारत एक गणतंत्र देश है जहाँ जनता अपना नेता प्रधानमंत्री के रुप में चुनती है। भारत में “पूर्ण स्वराज” के लिये हमारे महान भारतीय स्वतंत्रता सेनानियों ने बहुत संघर्ष किया। उन्होंने अपने प्राणों की आहूति दी जिससे उनके आने वाली पीढ़ी को कोई संघर्ष न करना पड़े और वो देश को आगे लेकर जाएँ।

 

हमारे देश के महान नेता और स्वतंत्रता सेनानी महात्मा गाँधी, भगत सिंह, चन्द्रशेखर आजाद, लाला लाजपत राय, सरदार बल्लभ भाई पटेल, लाल बहादुर शास्त्री आदि हैं। भारत को एक आजाद देश बनाने के लिये इन लोगों ने अंग्रेजों के खिलाफ़ लगातार लड़ाई की। अपने देश के लिये हम इनके समर्पण को कभी नहीं भूल सकते हैं। हमें ऐसे महान अवसरों पर इन्हें याद करते हुये सलामी देनी चाहिये। केवल इन लोगों की वजह से ये मुमकिन हुआ कि हम अपने दिमाग से सोच सकते हैं और बिना किसी दबाव के अपने राष्ट्र में मुक्त होकर रह सकते हैं।

हमारे पहले भारतीय राष्ट्रपति डॉ राजेन्द्र प्रसाद थे जिन्होंने कहा था कि, “एक संविधान और एक संघ के क्षेत्राधिकार के तहत हमने इस विशाल भूमि के संपूर्ण भाग को एक साथ प्राप्त किया है जो यहाँ रहने वाले 320 करोड़ पुरुष और महिलाओं से ज़्यादा के लोक-कल्याण के लिये जिम्मेदारी लेता है”। कितने शर्म से ये कहना पड़ रहा है कि हम अभी भी अपने देश में अपराध, भ्रष्टाचार और हिंसा (आतंकवाद, बलात्कार, चोरी, दंगे, हड़ताल आदि के रुप में) से लड़ रहें हैं। फिर से, ऐसी गुलामी से देश को बचाने के लिये सभी को एक-साथ होने की ज़रुरत है क्योंकि ये विकास और प्रगति के इसके मुख्य धारा में जाने से अपने देश को पीछे खींच रहा है। आगे बढ़कर इन्हें सुलझाने के लिये हमें अपने सामाजिक मुद्दों जैसे गरीबी, बेरोजगारी, अशिक्षा, ग्लोबल वार्मिंग, असमानता आदि से अवगत रहना चाहिये।

डॉ अब्दुल कलाम ने कहा है कि “अगर एक देश भ्रष्ट्राचार मुक्त होता है और सुंदर मस्तिष्क का एक राष्ट्र बनता है, मैं दृढ़ता से महसूस करता हूं कि तीन प्रधान सदस्य हैं जो अंतर पैदा कर सकते हैं। वो पिता, माता और एक गुरु हैं”। भारत के एक नागरिक के रुप में हमें इसके बारे में गंभीरता से सोचना चाहिये और अपने देश को आगे बढ़ाने के लिये सभी मुमकिन प्रयास करना चाहिये।

धन्यवाद, जय हिन्द।

गणतंत्र दिवस भाषण – 2

मेरी आदरणीय प्रधानाध्यापक मैडम, मेरे आदरणीय सर और मैडम और मेरे सभी सहपाठियों को सुबह का नमस्कार। हमारे गणतंत्र दिवस पर कुछ बोलने के लिये ऐसा एक महान अवसर देने के लिये मैं आपको धन्यवाद देना चाहूंगा। मेरा नाम अनन्त श्रीवास्तव है और मैं कक्षा 6 में पढ़ता हूँ।

आज, हमारे राष्ट्र के 66वें गणतंत्र दिवस को मनाने के लिये हम सभी यहाँ पर एकत्रित हुए हैं। हम सभी के लिये ये एक महान और शुभ अवसर है। हमें एक-दूसरे को बधाई देना चाहिये और अपने राष्ट्र के विकास और समृद्धि के लिये भगवान से दुआ करनी चाहिये। हर वर्ष 26 जनवरी को भारत में हम गणतंत्र दिवस मनाते हैं क्योंकि इसी दिन भारत का संविधान लागू हुआ था। हमलोग 1950 से ही लगातार भारत का गणतंत्र दिवस मना रहें हैं क्योंकि 26 जनवरी 1950 को भारत का संविधान लागू हुआ था।

भारत एक लोकतांत्रिक देश है जहां देश के नेतृत्व के लिये अपने नेता को चुनने के लिये जनता अधिकृत है। डॉ राजेन्द्र प्रसाद भारत के पहले राष्ट्रपति थे। 1947 में ब्रिटिश शासन से जब से हमने स्वतंत्रता प्राप्त की है, हमारे देश ने बहुत विकास किया है और ताकतवर देशों में गिना जाने लगा है। विकास के साथ, कुछ कमियाँ भी खड़ी हुई हैं जैसे असमानता, गरीबी, बेरोज़गारी, भ्रष्टाचार, अशिक्षा आदि। अपने देश को विश्व का एक बेहतरीन देश बनाने के लिये समाज में ऐसे समस्याओं को सुलझाने के लिये हमें आज प्रतिज्ञा लेने की जरुरत है।

धन्यवाद, जय हिन्द!

गणतंत्र दिवस भाषण – 3

मैं अपने आदरणीय प्रधानाध्यापक, शिक्षक, शिक्षिका, और मेरे सभी सहपाठियों को सुबह का नमस्कार कहना चाहूंगा। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि हम सभी यहाँ अपने राष्ट्र का 66वां गणतंत्र दिवस मनाने के लिये एकत्रित हुए हैं। ये हम सभी के लिये बेहद शुभ अवसर है। 1950 से, हम गणतंत्र दिवस को हर वर्ष ढ़ेर सारे हर्ष और खुशी के साथ मनाते हैं। उत्सव की शुरुआत के पहले, हमारे मुख्य अतिथि देश के राष्ट्रीय ध्वज़ को फहराते हैं। इसके बाद हम सभी खड़े होते हैं और राष्ट्र-गान गाते हैं जो कि भारत की एकता और शांति का प्रतीक है। हमारा राष्ट्र-गान महान कवि रबीन्द्रनाथ टैगोर द्वारा लिखा गया है।

हमारे राष्ट्रीय ध्वज़ में तीन रंग और 24 बराबर तीलियों के साथ मध्य में एक चक्र है। भारतीय राष्ट्रीय ध्वज़ के सभी तीन रंगों का अपना अर्थ है। सबसे ऊपर का केसरिया रंग हमारे देश की मजबूती और हिम्मत को दिखाता है। मध्य का सफेद रंग शांति को प्रदर्शित करता है जबकि सबसे नीचे का हरा रंग वृद्धि और समृद्धि को इंगित करता है। ध्वज़ के मध्य में 24 बराबर तीलियों वाला एक नेवी नीले रंग का चक्र है जो महान राजा अशोक के धर्म चक्र को प्रदर्शित करता है।

हम 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस मनाते हैं क्योंकि 1950 में ही इस दिन भारतीय संविधान अस्तित्व में आया था। गणतंत्र दिवस उत्सव में, इंडिया गेट के सामने नयी दिल्ली में राजपथ़ पर भारत की सरकार द्वारा एक बड़ा आयोजन किया जाता है। हर साल, इस उत्सव की चमक को बढ़ाने के साथ ही “अतिथि देवो भव:” के कथन के उद्देश्य को पूरा करने के लिये एक मुख्य अतिथि (देश के प्रधानमंत्री) को बुलाया जाता है। भारतीय सेना इस अवसर पर परेड के साथ ही राष्ट्रीय ध्वज़ को सलामी देती है। भारत में विविधता में एकता को प्रदर्शित करने के लिये अलग-अलग राज्यों के द्वारा भारतीय संस्कृति और परंपरा की एक बड़ी प्रदर्शनी भी दिखायी जाती है।Republic Day 2018 Essay in Hindi

Republic Day 2018 Essay in Hindi – 26 january 2018 Essay in English for Class Students

Republic Day 2018 Essay in Hindi 26 January 2018 Essay in English

Now don’t waste more time on preparation of 26 january 2018  Essay in English because here we are providing you some good 26th January essay ideas. We have collected them from hidden places so they are completely unique and amazing.Here are some 26 january 2018 Essay in English

  • India Celebrates the Republic Day Every year on the 26th Jan From 1950 when the constitution of India came into force. Republic day in India is one of the great importances in the history as it tells us all about each and every struggle of Indian Freedom. People who were fighting for Independence of India took a pledge on the same day in 1930 at the bank of Ravi River in the Lahore to achieve a complete independence of India. Which came true a day on 25th August 1974. At this day a great Indian Army, Indian Navy, India Air Force Parade takes place which generally starts from the Vijay Chowk and ends at India Gate and salutes the President of India on the Rajpath. Indian Army displays the power of India through the parade by demonstrating all the great inventions like tanks, Air Craft and Guns. On 26 of January in 1950 our country was declared as a sovereign, Democratic, Secular and Socialistic. Republic means people of India have the power to govern the country themselves. It is celebrated by organizing a big event with a special parade at the Rajpath, in New Delhi in the presence of President of India by unfolding our National Flag and singing the National Anthem.
  • India is a self-representing nation since fifteenth of August 1947. India got freedom from the British run on fifteenth of August in 1947 which we celebrate as Independence Day, However, on 26th of January since 1950 we celebrate as Republic Day. The Constitution of India came into constrain on 26th of January in 1950, so we commend this day as the Republic Day consistently. This year in 2016, we are celebrating 67th republic day of India.

Republic implies the incomparable energy of the general population living in the nation and just open has rights to choose their agents as political pioneer to lead the nation right way. Thus, India is a Republic nation where open chooses its pioneers as a president, head administrator, and so on. Our Great Indian opportunity warriors have battled a considerable measure to the “Purna Swaraj” in India. They did as such that their future ages may live without battle and drove nation ahead.

The name of our incredible Indian pioneers and flexibility warriors are Mahatma Gandhi, Bhagat Singh, Chandra Shekher Ajad, Lala Lajpath Rai, Sardar Ballabh Bhai Patel, Lal bahadur Shastri, and so forth. They battled persistently against the British manage to make India a free nation. We can always remember their penances towards our nation. We ought to recall them on such extraordinary events and salute them. It has turned out to be conceivable due to them that we can think from our own particular personality and live openly in our country without anybody’s power.Republic Day 2018 Essay in Hindi

So here is the collection of Republic Day 2018 Essay in Hindi and English hope this post is the last stop for all your searches regarding Republic day 2018 essay in Hindi and English. Check more here 26 January 2018 Status

We also includes some pictures of Republic Day 2018 Essay in Hindi and English. They will also help you to share your ideas for 26th January on social media

Republic Day 2018 Essay in Hindi Republic Day 2018 Essay in Hindi Republic Day 2018 Essay in Hindi

 26 january 2018 Essay in English 26 january 2018 Essay in English

Speak Your Mind

*